जानिए एक शुरुआत करने वाले को स्टॉक कब खरीदना चाहिए

दोस्तों mystical finance ब्लॉग में आप सभी का स्वागत है। आज के इस लेख में हम जानेंगे कि एक शुरुआत करने वाले को स्टॉक कब खरीदना चाहिए। जब आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि शेयर बाजार में काम करने के लिए धैर्य का होना बहुत आवश्यक होता है। लेकिन वो नए लोग शेयर बाजार में आते है वो चाहते हैं कि हम बहुत कम समय में ज्यादा पैसा बनाएं। जिसके कारण वो अक्सर शेयर बाजार में अपना नुकसान कर लेते हैं। परंतु यदि आप इस लेख को पूरा पढ़ते हैं तो आपको यह पता लगेगा कि शेयर कब खरीदना है और शेयर बाजार में क्या गलतियां नही करनी चाहिए।


एक शुरुआत करने वाले को स्टॉक कब खरीदना चाहिए
एक शुरुआत करने वाले को स्टॉक कब खरीदना चाहिए?


(toc)


एक शुरुआत करने वाले को स्टॉक कब खरीदना चाहिए?

यदि आप शेयर मार्केट में नए हैं और यह जानना चाहते हैं कि शेयर कब खरीदना है तो इसके लिए आपको शेयर बाजार के बारे में उस महत्वपूर्ण जानकारी और शेयर बाजार की सामान्य जानकारी होनी चाहिए। यदि आप ऐसा सोचते हैं कि हम जब चाहे शेयर खरीद और बेचकर शेयर बाजार से पैसे कमा सकते हैं तो आप गलत हैं, क्योंकि इसी कारण की वजह से लगभग अधिकतर लोग शेयर मार्केट में अपना नुकसान करते हैं। तो चलिए आपको कुछ स्टेप्स बताते हैं ताकि आप आसानी से एक सही निर्णय ले सकें।

Fundamental Analysis की जानकारी होनी चाहिए

एक नया व्यक्ति जो शेयर बाजार में आता है तो उसको सबसे पहले fundamental analysis सीखना चाहिए। जिससे जरिए वो आसानी से कुछ स्टेप्स में एक अच्छे शेयर के बारे में पता कर सके। शेयर बाजार में फंडामेंटल एनालिसिस की जानकारी होना बहुत ज्यादा जरूरी होता है।Fundamental Analysis कंपनी का पूरा हिसाब किताब होता है। जिसमे कंपनी के बारे में सारी जानकारियां होती हैं।

Fundamental analysis के जरिए हम कंपनी के बारे में जानकारी लेते हैं कि वो कौन से सेक्टर में काम कर रही है और उस सेक्टर में उस कंपनी की मोनोपोली क्या है। कम्पनी प्रति साल कितना प्रॉफिट बना रही है और प्रति साल कितने की सेल कर रही है। इसमें हम कंपनी के बैलेंस शीट और ROE के साथ साथ कंपनी के फाइनेंशियल कंडीशन को समझते है कि कंपनी के पास कितना कैश फ्लो है और उसने कितना लोन लिया हुआ है। यह सभी fundamental एनालिसिस के द्वारा पता किया जाता है।

यदि आपको फंडामेंटल एनालिसिस के बारे में पूरी जानकारी चाहिए तो इसके लिए हमने इस ब्लॉग पर पहले से एक लेख लिखा हुआ है। जिसके जरिए आप आसानी से फंडामेंटल एनालिसिस सीख सकते हैं। उस लेख में हमने आपको फंडामेंटल एनालिसिस के बारे में पूरी जानकारी दी हुई है।


Technical Analysis की समझ होनी चाहिए

जब हम किसी भी शेयर की फंडामेंटल एनालिसिस कर लेते हैं तो उसके बाद टेक्निकल एनालिसिस करने की जरूरत होती है। फंडामेंटल एनालिसिस के जरिए हम कंपनी के बिजनेस मॉडल के बारे में पता करते हैं और फंडामेंटल एनालिसिस से हम यह पता लगाते हैं कि कौन सी कंपनी के शेयर अच्छे हैं और कौन-सी कंपनी के शेयर खरीदने हैं। लेकिन टेक्निकल एनालिसिस के जरिए यह निश्चित किया जाता है कि शेयर को किस कीमत और किस समय पर खरीदना है।

जो लोग लंबे समय से शेयर बाजार में काम कर रहे हैं उनको टेक्निकल एनालिसिस में ज्यादा समय नहीं लगता है। अपने तजुर्बे के जरिए वो तुरंत यह जन लेते हैं कि शेयर पर निवेश करना है या नहीं। शेयर में निवेश करने से पहले आपको टेक्निकल एनालिसिस करने की आवश्यकता होती है। जितनी ज्यादा टेक्निकल एनालिसिस की जानकारी होती है व्यक्ति के लिए शेयर को खरीदने और बेचने का निर्णय लेना उतना ही आसान होता है। टेक्निकल एनालिसिस में support resistant के साथ साथ कई सारी चीजें सीखने की जरूरत होती है।

किसी भी शेयर को सही समय पर खरीदने पर उस शेयर पर मुनाफा होता है और जल्दी मुनाफा होने की संभावनाएं होती हैं। और बिना टेक्निकल एनालिसिस के इन्वेस्ट करने पर ज्यादा समय नुकसान ही होता है। बिना टेक्निकल एनालिसिस के हो सकता है की आप सही जगह पर निवेश न कर पाए और नुकसान हो सकता है। वैसे यदि आप लंबे समय के लिए निवेश करते है तो ऐसी स्थिति में मुनाफा होने की संभावना बनी रहती है। लेकिन सही समय पर खरीदे गए शेयरों पर जल्दी मुनाफा होता है।


Long Term निवेश करना महत्वपूर्ण

यदि आपको शेयर बाजार में निवेश करना है परंतु आपको शेयर बाजार के बारे में ज्यादा जानकारी नही है और आप निवेश करना चाहते हैं। तो आपको यह देखना होगा कि हम अपनी रोज के उपयोग में किन किन प्रोडक्ट को लेते हैं और उन प्रोडक्ट को कौन सी कंपनी बनाती है। क्योंकि जिन प्रोडक्ट को हम डेली उपयोग में लेते है ऐसी कंपनियों के शेयर में निवेश करना फायदेमंद होता है। 

लंबी अवधि के लिए इन कंपनियों में निवेश  करने के लिए आपको ज्यादा नॉलेज की जरूरत भी नहीं होती है। लेकिन आप जिस कंपनी में निवेश के योजना बना रहे है उस कंपनी पर भरोसा होना चाहिए। आप अपनी पसंदीदा कंपनी पर भी लंबी अवधि के लिए निवेश कर सकते हैं।

नए लोगो को शुरू के किसी भी शेयर और कंपनी पर कम पैसों के साथ निवेश करना चाहिए। और बाद में शेयर बाजार को समझ कर अपनी क्षमता के अनुसार ही निवेश को बढ़ाना चाहिए।

INDEX में करें निवेश

नए लोगों को इंडेक्स जैसे निफ्टी 50 और सेंसेक्स में निवेश करना चाहिए क्योंकि यह सबसे सुरक्षित तरीका माना जाता है।इसमें शेयरों की तुलना में नुकसान होने का जोखिम कम होता है। एक शेयर में निवेश करने के लिए शेयर बाजार की अच्छी समझ के साथ साथ शेयर बाजार का तजुर्बे की जरूरत पड़ती है। परंतु इंडेक्स में ज्यादा कुछ देखने की आवश्यकता नही होती है। इस लिए निफ्टी 50 और सेंसेक्स दो ऐसे इंडेक्स हैं जिन पर एक शुरुआत करने वाला आसानी से निवेश कर सकता है।

ये दोनो एक तरह से भारत की ही इकॉनामी हैं और लगातार भारत की ग्रोथ और इकनॉमी के साथ साथ बढ़ते रहते हैं। एक शेयर एक समय पर किसी कारण से जीरो हो सकता है लेकिन एक इंडेक्स का जीरो होना नामुमकिन होता है। 

एक इंडेक्स कई सारी कंपनियों से मिलकर बना होता है। निफ्टी 50 में देश की टॉप सबसे बड़ी 50 कंपनियों के शेयर मौजूद हैं और इनसे मिलकर निफ्टी 50 बना है। जबकि सेंसेक्स में 30 कंपनियों के शेयर होते हैं। किसी कंपनी के परफॉर्मेंस के आधार पर इस कंपनी को इंडेक्स में रखने या हटाने का काम एक्सचेंज के द्वारा किया जाता है।

ETF में निवेश करना फायदेमंद



इन गलतियों को करने से बचें

एक शुरुआत करने वाला शेयर बाजार में कुछ ऐसी गलतियां करता है जिनके कारण वो अपना नुकसान कर लेता है। और इन गलतियों के कारण अपना कैपिटल खतम कर देता है जिसके कारण उसको कई सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। चलो स्टेप wise उन गलतियों को समझते हैं। ताकि आप उन गलतियों को न करें और अपना नुकसान करने से बच पाएं।

टिप्स के भरोसे शेयर खरीदना 

यह एक common गलती है जिसे अभी के समय में बहुत सारे लोग करते हैं, खासकर वो लोग जो शेयर बार में नए होते हैं वो social media या टेलीग्राम चैनल से कोई टिप मिलती है तो उस टिप के अनुसार निवेश कर देते हैं और कई बार टिप गलत होने के कारण अपना नुकसान कर लेते हैं।

पैनी स्टॉक्स के पीछे भागना

इस गलती को भी ज्यादातर नए लोग ही करते हैं वो चाहते हैं कि हम बस थोड़ा सा निवेश करे और हमारा पैसा कई गुना हो जाए। इसके लिए वो बिना कुछ देखे काम भाव वाले शेयरों को खरीद लेते हैं। और जिसके कारण उनका नुकसान होता है।

कर्ज लेकर निवेश करना

दूसरों से पैसे लेकर निवेश करना सबसे बड़ी गलती होती है। इसे करने से बचना चाहिए क्योंकि दूसरे से पैसे लेकर निवेश करने पर यदि लॉस होता है तो आप कई सारी और भी मुसीबतों में फश सकते हैं।

बिना सीखे निवेश करना

बिना शेयर बाजार को समझे शेयर बाजार में निवेश करना एक बड़ी गलती हो सकती है। बिना शेयर बाजार को समझे निवेश करने से नुकसान होने की संभावना होती है।
इस लेख को सिर्फ और सिर्फ शिक्षण के उद्देश्य से लिखा गया है। हम कोई फाइनेंशियल एडवाइजर नहीं हैं। शेयर बाजार को बिना समझे और सीखे शेयर बाजार में निवेश करने से वित्तीय नुकसान होने की संभावना होती है। इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने से पहले शेयर बाजार को भली भाती समझें।यदि आप बिना शेयर बाजार को समझे इसमें निवेश करते है और आपका नुक्सान होता है तो mystical finance इसकी कोई जिम्मेदारी नही लेता। निवेश करने से पहले अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से जरूर संपर्क करें।(alert-warning)

निष्कर्ष

आशा करते है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको यह समझ में आ गया होगा कि एक शुरुआत करने वाले को स्टॉक कब खरीदना चाहिए। इस लेख से यह पता चलता है कि एक शुरुआत करने वाले को तभी शेयर खरीदना चाहिए जब वो टेक्निकल और फंडामेंटल एनालिसिस को पूरी तरीके से सीख जाए। जो भी बिना समझे और सीखे शेयर बाजार में सिर्फ टिप्स के भरोसे निवेश करता है उसको हमेशा नुकसान ही होता है। आपको बिना समझे शेयर बाजार में निवेश नही करना चाहिए। यदि आप फंडामेंटल और टेक्निकल एनालिसिस सीखना चाहते है तो हमने इस ब्लॉग पर काफी सारे लेख डाले हैं जिनसे आप आसानी से टेक्निकल एनालिसिस और फंडामेंटल एनालिसिस सीख सकते हैं। 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

#buttons=(Ok, Go it!) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Ok, Go it!